बागेश्वर:चार दिवसीय पिण्डारी ग्लेशियर भ्रमण पर कुमाऊं कमिश्नर दीपक रावत व DM रीना जोशी अधिकारियों के साथ अंतिम गांव खाती पहुंचे,यहां क्षेत्रवासियों की सुनी समस्या और मांगे ये सुझाव

ख़बर शेयर करें

बागेश्वर अपने चार दिवसीय पिण्डारी ग्लेशियर भ्रमण पर शनिवार को मण्डलायुक्त दीपक रावत व जिलाधिकारी रीना जोशी अधिकारियों के साथ पिण्डारी ग्लेशियर क्षेत्र के अन्तिम गॉव खाती पहुॅचे। खाती पहुॅचकर आयुक्त व जिलाधिकारी ने लोक निर्माण विभाग डाक बंगले में क्षेत्रवासियों की जन समस्यायें सुनी व क्षेत्र में पर्यटन को बढ़ाने हेतु सुझाव भी मांगे।


आयुक्त ने अधिशासी अभियंता पीएमजीएसवार्इ को खाती गॉव तक निर्माणाधीन सड़क को शीघ्र पूर्ण करने व सड़क निर्माण का मलुवा लोगों के खेतों से तुरन्त हटाने के निर्देश दिये।
क्षेत्रवासियों ने आयुक्त व जिलाधिकारी को अपनी क्षेत्र की समस्यायें बताते हुए कहा कि खाती से पिण्डारी तक का मार्ग क्षतिग्रस्त होने से आवागमन में परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है साथ ही क्षतिग्रस्त पैदल मार्ग जगह-जगह क्षतिग्रस्त है जिसमें स्थानीय लोगों के साथ ही पर्यटकों को भी असुविधाओं का सामना करना पड़ रहा है, इसलिए पिण्डारी ट्रैक रूट का शीघ्र मरम्मत किया जाय, साथ ही अनरोध किया कि प्रतिवर्ष वर्षाकाल व शरदकाल में मार्ग वर्षा व बर्फ से क्षतिग्रस्त हो जाता है इस पैदल पिण्डारी मार्ग का पर्यटन सीजन से पूर्व प्रतिवर्ष सुधारीकरण कार्य कराने की मांग की। साथ ही खाती-पिण्डारी रूट पर सुचारू संचार व्यवस्था, खाती पिण्डारी मार्ग पर पेयजल व र्शाचालय व्यवस्था, सुन्दरढुंगा ट्रेक रूट की मरम्मत, नये ट्रैक रूट विकसित करने के साथ ही इण्टर कालेज खाती में नियमित प्रधानाचार्य नियुक्त करने के साथ ही शिक्षकों की तैनाती कराने का अनुरोध किया।

यह भी पढ़ें 👉  अग्निवीर भर्ती प्रक्रिया में बदलाव, पहले देना होगा कॉमन एंट्रेंस एग्जाम

ग्राम प्रधान खाती कैलाश सिंह दानू ने खाती ग्राम के बीचों-बीच जाने वाला पैदल रास्ता खराब होने से ग्रामवासियों व स्कूली बच्चों को हो रही परेशानियों से अवगत कराते हुए गॉव के पैदल मार्ग की मरम्मत एवं सुधारीकरण करोन का अनुरोध भी किया, साथ ही सड़क निर्माण से टूटी पेयजल लाईन की मरम्मत कराकर पेयजल सुचारू करने का अनुरोध किया, जिस पर आयुक्त ने अधि0अभि0 को तुरन्त पेयजल लार्इन की मरम्मत कराकर गॉव में पेयजल सुचारू करने के निर्देश मौके पर दिये। आयुक्त ने कहा कि पिण्डारी, सुन्दरढुंगा ग्लेशियर जाने वाले पर्यटक ग्लेशियरों में गंदगी न करें जो भी प्लास्टिक आदि सामग्री ले जाने है उसे वापस भी अनिवार्य रूप से लायें। आयुक्त ने पिण्डारी ग्लेशियर व खाती वॉकी-टॉकी संचार व्यवस्था भी जांची।

यह भी पढ़ें 👉  उत्तराखंड : यहां पुलिस और एसओजी की संयुक्त टीम ने नशे के सौदागर को दबोचा,13 लाख की स्मैक बरामद

इस दौरान प्रबंध निदेशक कु0मा0वि0नि0 विनीत तोमर, उप जिलाधिकारी परितोष वर्मा, अधि0अभि0 लोनिवि संजय पाण्डे, पीएमजीएसवाई लसपाल, जिला पूर्ति अधिकारी मनोज वर्मन, जिला पर्यटन अधिकारी कीर्ति आर्या, तहसीलदार पूजा शर्मा आदि मौजूद थे।

 

Ad Ad Ad Ad Ad Ad Ad Ad Ad Ad Ad Ad Ad Ad
यह भी पढ़ें 👉  उत्तराखंड-( Big News) प्रदेश कैबिनेट की बैठक 10 फरवरी को, लग सकती है मोहर इन मुद्दों पर
Ad Ad Ad Ad
Subscribe
Notify of
guest
0 Comments
Inline Feedbacks
View all comments