बागेश्वर: समाज कल्याण मंत्री चन्दन राम दास ने जिला योजना की ली वर्चुअल समीक्षा,दिए ये निर्देश

ख़बर शेयर करें

बागेश्वर

समाज कल्याण मंत्री चन्दन राम दास ने जिला योजना की वर्चुअल समीक्षा करते हुए मार्च से पूर्व कार्यों में प्रगति लाकर शतप्रतिशत धनराशि व्यय करने के निर्देश दिये। उन्होंने जिन विभागों द्वारा जिला योजना में शतप्रतिशत व्यय कर लिया है उन्हें बधाई दी व अन्य विभागों को मार्च से पूर्व धनराशि व्यय करने के निर्देश दिये, साथ ही कहा कि कार्यों में गुणवत्ता से कोई समझौता नहीं किया जायेगा। उन्होंने निर्माण कार्यों का भौतिक सत्यापन कराने के निर्देश भी जिलाधिकारी को दिये। उन्होंने कहा कि सभी अधिकारी आपसी समन्वय बनाते हुए विकास कार्यों को अंजाम दें व जनपद के विकास में सहभागी बनें। उन्होंने बीस सूत्रीय कार्यक्रम में सभी विभागों को ए-श्रेणी में आने के निर्देश भी दिये।

समाज कल्याण मंत्री में कहा कि सड़क वन भूमि प्रस्तावों व लम्बित मुआवजे प्रकरणों को प्राथमिकता से निस्तारित किये जाय। उन्होंने आपदा एवं बाढ़ नियंत्रण कार्यों में तेजी लाने के निर्देश देते हुए बागेश्वर व गरूड़ के ड्रेनेज प्लान बनाने के निर्देश भी सिंचार्इ विभाग को दिये। उन्होंने कहा कि गर्मी का सीजन आने वाला है इसलिए पेयजल योजनाओं व पेयजल लार्इनों के मरम्मत कार्यों को शीघ्रता से पूर्ण करें, ताकि सुचारू पेयजल उपलब्ध हो सके। उन्होंने सिंचार्इ विभाग को निर्देश दिये कि सभी नहरों की सफार्इ एवं मरम्मत कार्य पूर्ण कर लें ताकि सिंचार्इ व्यवस्था भी सुनिश्चित हो सके।

यह भी पढ़ें 👉  उत्तराखंड-(Big News) 280 करोड़ की स्वीकृत 18 हजार पॉलीहाउस के लिए

पर्यटन विभाग की समीक्षा करते हुए समाज कल्याण मंत्री श्री दास ने निर्देश दिये कि जनपद में नये पर्यटन स्थल एवं स्पाट विकसित किये जाय। उन्होंने कहा कि प्रसाद योजना के अन्तर्गत बागनाथ मंदिर का जीर्णोंद्वार एवं शौन्दर्यीकरण किया जाना है जिस हेतु 49 करोड़ की सैद्धांतिक स्वीकृति मिल चुकी है, इसलिए शीघ्रता से डीपीआर तैयार करवायें। उन्होंने प्रसाद योजना के अन्तर्गत नुमार्इशखेत रामलीला भवन, गोमतीपुल से शवदाह स्थल तक पैदल मार्ग व बागनाथ की ओर जाने वाले पैदल मार्ग का चौड़ीकरण भी डीपीआर में रखने के निर्देश दिये। उन्होंने मुख्य पशु चिकित्साधिकारी को गोट वैली योजना में त्वरित कार्य करने, उद्यान अधिकारी को कीवी, सेब, बेमोसमी सब्जी के साथ ही मसरूम उत्पादन को बढाने हेतु कार्य करने तथा जलसंस्थान व पेयजल निगम को जल जीवन मिशन के कार्यों में तेजी लाने के निर्देश दिये। उन्होंने पेयजल निगम को खरही पेयजल योजना, जेठार्इ पेयजल योजना को गर्मी से पूर्व सुचारू संचालित करने के निर्देश दिये। उन्होंने राज्य सैक्टर व केन्द्र पोषित योजनाओं में भी कार्य प्रगति लाने के निर्देश दिये।

यह भी पढ़ें 👉  उत्तराखंड-(Big News) केंद्र ने राज्य को किए जारी 118.91 करोड, बुजुर्गों, विधवाओं, दिव्यांगों के लिए सहायता राशि

जिलाधिकारी अनुराधा पाल ने बताया कि जिला योजना परिव्यय 43.75 करोड़ के सापेक्ष विभागों द्वारा 30.50 करोड़ व्यय कर दिया गया है जो योजना का लगभग 70 प्रतिशत है। उन्होंने बताया कि जिला योजना की तीसरी किश्त जनवरी अंत में जारी की गयी थी इसलिए कर्इ विभागों के कार्य पूर्ण हो चुके है मगर भुगतान हेतु बिल लम्बित है। उन्होंने लम्बित बिलों के भुगतान करने के निर्देश दिये साथ ही जो कार्य प्रगति पर है उनमें गति लाकर 15 मार्च तक शतप्रतिशत धनराशि व्यय करने के निर्देश अधिकारियों को दिये।

यह भी पढ़ें 👉  हल्द्वानीः आज पहाड़ को आने-जाने वाले देख ले ये खबर, पुलिस ने बदला रूट

बैठक में जिला विकास अधिकारी संगीता आर्या, मुख्य चिकित्साधिकारी डॉ0 डीपी जोशी, मुख्य शिक्षा अधिकारी जीएस सौन, जिला उद्यान अधिकारी आरके सिंह, महाप्रबंद्यक उद्योग जीपी दुर्गापाल, अर्थ एवं संख्याधिकारी दिनेश रावत, मुख्य पशु चिकित्साधिकारी डॉ0 आर चन्द्रा, जिला पर्यटन अधिकारी कीर्ति आर्या, जिला पूर्ति अधिकारी मनोज बर्मन, अधि0अभि0 जल निगम वीके रवि, पीएमजीएसवार्इ विजय कृष्ण, सिंचार्इ योगेश काण्डपाल, जल संस्थान डीएस देवड़ी, आरडब्लूडी आर0चन्द्रा, अपर मुख्य अधिकारी जिला पंचायत राजेश कुमार, जिला कार्यक्रम अधिकारी अनुलेखा बिष्ट सहित संबंधित अधिकारी मौजूद थे।

  

Ad Ad Ad Ad Ad Ad Ad
Ad
Ad
Subscribe
Notify of
guest
0 Comments
Inline Feedbacks
View all comments