कुमाऊं टैक्सी चालक महासंघ अध्यक्ष ने कहा सरकार की ऑटोमेटिक फिटनेस और कबाड़ नीति का होगा पूरे उत्तराखंड में विरोध

ख़बर शेयर करें

टनकपुर: यहां कुमाऊं टैक्सी चालक महासंघ के अध्यक्ष शंकर सिंह बिष्ट ने कहा कि टैक्सी चालक सरकार की ऑटोमेटिक फिटनेस और कबाड़ नीति का पूरे उत्तराखंड में ‌पुरजोर विरोध करेंगे, आवश्यकता हुई तो समूचे राज्य में एकजुट होकर चक्का जाम किया जाएगा। श्री बिष्ट ने यहां कुमाऊं टैक्सी चालक महासंघ और पूर्णागिरि टैक्सी यूनियन की साझा बैठक को संबोधित करते हुए यह ऐलान किया।

इससे पूर्व यहां कुमाऊं के विभिन्न जनपदों वह तहसीलों से आए टैक्सी चालक संघ व महासंघ के पदाधिकारियों का पूर्णागिरि टैक्सी यूनियन के पदाधिकारियों ने माल्यार्पण कर ज़ोरदार खैरमकदम किया। तदोपरांत दीप प्रज्वलित कर महासंघ और पूर्णागिरि टैक्सी यूनियन की संयुक्त बैठक का शुभारंभ किया गया।बैठक को मुख्य रुप से कुमाऊं महासंघ अध्यक्ष शंकर सिंह बिष्ट,पूर्णागिरि टैक्सी यूनियन अध्यक्ष मदन कुमार, उपाध्यक्ष ललित मोहन भट्ट, और महासंघ के महासचिव नवल किशोर ने संबोधित किया। इस दौरान पूर्णागिरि टैक्सी यूनियन ने मार्च में होने वाले मां पूर्णागिरि मेले की व्यवस्थाओं को लेकर कुमाऊं टैक्सी चालक महासंघ के साथ चर्चा की।वहीं कुमाऊ महासंघ अध्यक्ष शंकर सिंह बिष्ट ने कहा कि सरकार द्वारा लागू ऑटोमेटिक फिटनेस और कबाड़ नीति का विरोध पूरे उत्तराखंड में किया जाएगा उन्होंने सरकार को चेतावनी देते हुए कबाड़ी नीति (स्क्रैप नीति) को भी वापस लेने के लिए चेताया। श्री बिष्ट ने कहा कि यदि कबाड़ नीति उत्तराखंड में लागू की जाती हैं तो इससे सभी वाहन स्वामियों को नुकसान होगा। एक तरफ तो सरकार कहती है कि सभी को रोजगार दो वहीं जिन वाहनों स्वामियों के पास पैसे नहीं है तो वह उनके पुराने वाहनों को कबाड़ नीति के जरिए कटवा रही है। उन्होंने कहा कि कबाड़ नीति लागू होने के बाद उत्तराखंड में कई टैक्सी वाहन स्वामी बेरोजगार हो जाएंगे ।बैठक में पूर्णागिरि टैक्सी यूनियन के अध्यक्ष मदन कुमार, डीडीहाट यूनियन के अध्यक्ष दीवान सिंह शाही, कुमाऊं महासंघ महासचिव नवल किशोर,उपाध्यक्ष ललित भट्ट,टैक्सी यूनियन थल के अध्यक्ष बबलू सामंत,महासंघ के संरक्षक भरत भूषण,मीडिया प्रभारी कामरान कुरैशी,अल्मोड़ा यूनियन महासचिव नीरज पवार,जनार्दन भट्ट, विकास सिंह, दीपक जोशी ,राजेंद्र सिंह धामी आदि मौजूद रहे।

यह भी पढ़ें 👉  बागेश्वर:(जनता दरबार) 21 शिकायतें दर्ज पेयजल, सड़क, शिक्षा, मुआवजा व आवास संबंधित शिकायतें प्रमुख

Ad Ad Ad Ad Ad Ad Ad Ad Ad Ad Ad Ad Ad Ad
Ad Ad Ad Ad
Subscribe
Notify of
guest
0 Comments
Inline Feedbacks
View all comments