उत्तराखंडः यहां हाथ पर दराती लेकर मडवे के खेतों पर पहुंचें DM साहब, काटी किसान की तैयार फसल

ख़बर शेयर करें

उत्तरकाशी:शुक्रवार को जिलाधिकारी अभिषेक रुहेला ज्ञाणजा गांव पहुंचे। वहां फसल पर क्रॉप कटिंग प्रयोग होना था। डीएम जब स्थलीय निरीक्षण के लिए पहुंचे तो वो भी हाथ में दराती लेकर खुद फसल काटने लगे। उन्हें ऐसा करता देख वहां के लोग भी हैरान रह गए। डीएम ने स्वयं भी परम्परागत फसल मडवा की क्रॉप कटिंग की। इस दौरान काश्तकार कमलेश भट्ट के खेत में 4 किलो छह सौ ग्राम मडुवा और कलम देई के खेत में 7 किलो तीन सौ ग्राम मडुवा का उत्पादन निकाला गया। डीएम को खेतों में देखकर ग्रामीण बेहद खुश हुए। डीएम ने कहा कि आज दोनों किसानों के खेत में निर्धारित वर्ग मीटर में क्रॉप कटिंग की गई। फसल की क्रॉप कटिंग प्रयोगों के आधार पर ही जिले में फसलों के औसत उपज और उत्पादन के आंकड़े तैयार किए जाते हैं। उन्होंने इस दौरान किसानों से बातचीत की और फसलों के बारे में जानकारी ली। कृषि एवं अन्य आवश्यक संसाधनों से संबंधित समस्याओं एवं चुनौतियों के बारे में किसानों को जरूरी जानकारी भी दी। क्रॉप कटिंग के दौरान अपर संख्याधिकारी रमेश भारद्वाज सहित ग्रामीण व अधिकारी मौजूद रहे। इस मौके पर डीएम ने कहा कि आज दोनों काश्तकारों के खेतों में निर्धारित वर्ग मीटर में क्रॉप कटिंग की गई। उन्होंने कहा कि जमीन से जुड़कर काम करने पर ही किसी भी काम की सही स्थिति का पता लगाया जा सकता है। इसलिए आज उन्होंने भी क्रॉप कटिंग पर हाथ आजमाया। गौरतलब है कि मंडुवा का समर्थन मूल्य पिछले वर्ष की तुलना में दो रुपये बढ़ा है। पिछले वर्ष मंडुवे का समर्थन मूल्य 25 रुपये निर्धारित था। जो बढ़ कर 27 रुपये हो गया है। डीएम अभिषेक रूहेला ने बताया कि जिले में पारंपरिक फसलों का उत्पादन करीब चार गुना बढ़ा है, पारंपरिक फसलों को बढ़ावा देने के लिए सरकार हर संभव प्रयास कर रही है।

Ad Ad Ad Ad Ad Ad Ad Ad Ad Ad Ad Ad Ad Ad
यह भी पढ़ें 👉  उत्तराखंड – (Big News) कुमाऊं में यहां 2 स्कूलों में 42 बच्चे बीमार
Ad Ad Ad Ad
Subscribe
Notify of
guest
0 Comments
Inline Feedbacks
View all comments