उत्तराखंड-(Big news) यहां सड़क पर उतरे कुमाऊं कमिश्नर, मिली कई खामियां, और फिर…

ख़बर शेयर करें

हल्द्वानी – बस अड्डे के निरीक्षण का दौरान मण्डलायुक्त दीपक रावत ने नगरनिगम को महिलाओँ की सुरक्षा की दृष्टि से पिंक टॉयलेट का प्रस्ताव तैयार करने के निर्देश दिए। उन्होंने बस अड्डे में पुराने बंद पड़े सार्वजनिक शौचालय को पिंक टॉयलेट में तब्दील करने को कहा। पिंक टॉयलेट महिलाओं द्वारा ही संचालित व प्रयोग में लाया जाएगा। पिंक टॉयलेट अपनी तरह की अनूठी सुविधा महिलाओं और बच्चों के लिए एक स्वच्छ सार्वजनिक शौचालय बनाने की दिशा में एक महत्वपूर्ण कदम है।विगत काफी दिनों से ट्रंचिंग ग्राउंड व लीगेसी वेस्ट प्लांट में सुलग रही आग का निरीक्षण मण्डलायुक्त ने किया। निरीक्षण के दौरान देखने को मिला कि काफी जगह आग सुलग रही है, जिस सम्बन्ध में मुख्य नगर आयुक्त पर नाराजगी व्यक्त करते हुए हर हाल में तीन दिन के भीतर आग बुझाने जाए। आग बुझाने हेतु फॉयर ब्रिगेड से सहयोग लेने को भी कहा। इसके साथ ही आग बुझने तक प्लांट के समस्त प्रोसेसिंग कार्य को बंद रखने के निर्देश दिए जिससे समस्त कार्मिकों की सहायता से आग बुझाई जा सके। विदित है कि लगभग 1 लाख मीट्रिक टन कूड़े का ढेर है(लीगेसी वेस्ट) जिसे नगर निगम द्वारा निस्तारित किया जा रहा है।लीगेसी वेस्ट प्लांट के निरीक्षण के दौरान मण्डलायुक्त ने संस्था द्वारा आरडीएफ(रिफ्यूसड डीराईवड फ्यूल) व कूड़े को ले जा रहे वाहनों का डाटा भी चेक किया। मौके पर पाया गया कि माप स्थल पर सीसीटीवी कैमरा नही लगा है जिससे वास्तविक कूड़ा वाहनों की संख्या का पता नही चल पाता है कि कितने वाहनों द्वारा लीगेसी वेस्ट को ट्रीटमेंट हेतु डंप किया गया। संस्था द्वारा लीगेसी वेस्ट की ट्रीटमेन्ट से पूर्व माप की जाती है तत्पश्चात प्रोसेसिंग की जाती है।
इसके साथ ही ट्रंचिंग ग्राउंड में एक आईपी कैमरा लगाने के निर्देश नगर आयुक्त को दिए जिससे ट्रंचिंग ग्राउंड की समस्त गतिविधियों पर नजर रखी जा सके।जल संस्थान के हल्द्वानी शहरी क्षेत्र में 08 हाइड्रेंट स्थापित है। जिससे शहर में किसी भी प्रकार की आग की अनहोनी होने पर तत्काल हाइड्रेंट चालू कर आग को काबू में किया जा सके। गर्मियों में आग की संभावना को देखते हुए आज मण्डलायुक्त ने शहर के तीन हाइड्रेंट का निरीक्षण किया। सिंधी चौराहे के पास स्थित हाइड्रेंट में पहुँचने पर जल संस्थान के अधिकारियों से कहा कि मानो अभी आग को बुझाना है, हाइड्रेंट चालू किया जाए। 10 मिनट तक अग्निशमन विभाग के कार्मिक द्वारा हाइड्रेंट की नली को चालू करने का प्रयास किया किंतु हाइड्रेंट से पानी नहीं आया। इस सम्बंध में मण्डलायुक्त ने अधिशासी अभियंता जल संस्थान को हाइड्रेंट से पानी न आने की रिपोर्ट के साथ ही एक प्रमाणपत्र देने को कहा। प्रमाणपत्र में बताया जाए कि हाइड्रेंट से किसी भी व्यक्ति को जल संयोजन नहीं दिया गया है।इसके पश्चात रेलवे बाजार व राजकीय प्राथमिक विद्यालय बनभूलपुरा के हाइड्रेंट को भी जांचा गया व उनसे तत्काल पानी भी आया है। दोनों हाइड्रेंट में पानी के प्रेशर को बढ़ाने के लिए अवर अभियंता जल संस्थान को प्राकलन बनाने के निर्देश दिए।इसके साथ ही मण्डलायुक्त ने रेलवे बाजार में सड़कों पर किये गए अवैध अतिक्रमण, रोड़वेज़ स्थित सुलभ शौचालय आदि का निरीक्षण भी किया। रेलवे बाजार में जैन इलेक्ट्रॉनिक व फर्नीचर द्वारा सड़क पर किये गए अवैध अतिक्रमण के सम्बन्ध में मालिक द्वारा आयुक्त से माफी मांगी गई व लिखित में दुकान में चस्पा किया गया कि आज के बाद किसी भी हालत में सड़क पर दुकान का सामान नहीं रखा जाएगा। पुनः सड़क पर सामान पाए जाने पर उनकी दुकान को सील कर लिया जाए। इसके साथ ही हिमालयन स्टील वर्क्स की दुकान का समान भी सड़क पर पाए जाने पर नगर निगम को दुकान सील करने को कहा।
इस अवसर पर सिटी मजिस्ट्रेट ऋचा सिंह, मुख्य नगर आयुक्त पंकज उपाध्याय, सीएफओ संजीव कुमार, वरिष्ठ स्वास्थ्य नगर अधिकारी मनोज कांडपाल सहित अन्य अधिकारी उपस्थित थे।

यह भी पढ़ें 👉  बागेश्वर: पूर्व प्रदेश उपाध्यक्ष aap बसंत कुमार बागेश्वर विधानसभा सीट से उपचुनाव लड़ेंगे,कांग्रेस से किया....

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *