नवाचार क्लब एवं जिला विधिक सेवा प्राधिकरण के संयुक्त तत्वाधान में जागरूकता कार्यक्रम

ख़बर शेयर करें

बीते रोज 31 अक्तूबर को नवाचार क्लब एवं जिला विधिक सेवा प्राधिकरण के संयुक्त तत्वाधान में एक जागरूकता कार्यक्रम का आयोजन किया गया। नवाचार क्लब के नोडल अधिकारी डॉ रितुराज पंत ने कहा कि आज महिलाएं पुरुषों के साथ कदम से कदम मिलकार काम कर रही हैं। घर हो या बाहर हर जगह वे अपना सर्व श्रेष्ठ दे रहीं हैं। लेकिन आज भी समाज में महिला उत्पीड़न, द्वेष, महिलाओं का मानसिक और शारीरिक उत्पीड़न, लिंग भेद जैसी भावनाओं से भी पीड़ित हैं। भारतीय संविधान में महिलाओं की सुरक्षा और समानता से जुड़े कई कानून बनाए गए हैं जिसकी जानकारी होना अति आवश्यक है इसी उद्देश्य से इस प्रकार के कार्यक्रम अति आवश्यक है। पीएलवी दिनेश ल्वेशली ने राष्ट्रीय विधिक सेवा प्राधिकरण एवं जिला विधिक सेवा प्राधिकरण के बारे में विस्तार से जानकारी देते हुए कहा कि इनका मुख्य उद्देश्य निःशुल्क कानूनी सहायता और सलाह प्रदान करना। होता है साथ ही कानूनी जागरूकता का विस्तार, लोक अदालतों का आयोजन, वैकल्पिक विवाद समाधान (ADR ) तंत्र के माध्यम से विवादों के निपटारे को बढ़ावा देना,
विभिन्न प्रकार के ADR तंत्र हैं जैसे- मध्यस्थता, सुलह, न्यायिक समझौता जिसमें लोक अदालत के माध्यम से निपटान या मध्यस्थता करना और
अपराध के पीड़ितों को मुआवज़ा प्रदान करना होता है। महाविद्यालय प्राचार्य ने कहा कि जब तक हम अपने अधिकारों कोई स्पष्ट रूप से नहीं जानेंगे तब तक हम अपने अस्तित्व अपने स्वाभिमान और समाज में चल रही कुरीतियों को समाप्त करने में सक्षम नहीं हो पाएंगे। अंत में प्राचार्य द्वारा जिला विधिक सेवा प्राधिकरण से आए अतिथियों को धन्यवाद प्रेषित किया। इस अवसर पर समस्त प्राध्यापक एवं शिक्षणेत्तर कर्मचारी उपस्थित रहे।

Ad Ad Ad Ad Ad Ad Ad Ad Ad Ad Ad Ad Ad Ad
यह भी पढ़ें 👉  उत्तराखंड : यहां पुलिस और एसओजी की संयुक्त टीम ने नशे के सौदागर को दबोचा,13 लाख की स्मैक बरामद
Ad Ad Ad Ad
Subscribe
Notify of
guest
0 Comments
Inline Feedbacks
View all comments