बागेश्वर:कैबिनेट मंत्री चंदन राम दास ने सरस गैलरी उत्सव में किया प्रतिभाग ,स्वंय सहायता समूह द्वारा उत्पादित उत्पादों के स्टॉलों का भी किया निरीक्षण

ख़बर शेयर करें

बागेश्वर प्रदेश के समाज कल्याण, परिवहन, लघु एवं सूक्ष्म मध्यम उद्यम, खादी एवं ग्रामोद्योग मंत्री चन्दन राम दास ने शनिवार को ग्राम्य विकास विभाग द्वारा संचालित दीन दयाल अन्त्योदय योजना, राष्ट्रीय ग्रामीण आजीविका मिशन के अंतर्गत 26 सिंतबर से 05 अक्टूबर तक आयोजित सरस गैलरी उत्सव में प्रतिभाग कर स्वंय सहायता समूह द्वारा उत्पादित उत्पादों के स्टॉलों का निरीक्षण किया व उन्हें प्रोत्साहित करते हुए उनकी सराहना की।

बतौर मुख्य अतिथि संबोधित करते हुए मंत्री ने कहा कि देश के प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी द्वारा हमेशा स्थानीय उत्पादों को बढावा देने के कार्य कियें जाते रहें है। उनके नेतृत्व में देश में स्थानीय उत्पादों पर आधारित लघु, कुटीर एंव ग्रामोद्योग को बढावा दिया जा रहा है, ताकि स्थानीय स्तर पर रोजगार विकसित किया जाए। श्री दास ने वोकल फॉर लोकल कार्यक्रम के तहत महिलाओं द्वारा कियें जा रहें कार्यो की सराहना की। कहा कि प्रदेश सरकार द्वारा वन डिस्ट्रिक्ट टू प्रोडेक्ट पर कार्य किया जायेगा, जिसमें प्रत्येक जनपद के प्रमुख उद्योगों को बढावा देकर उत्पादन व विपरण पर सरकार द्वारा कार्य किया जायेगा। प्रदेश में जडी-बूटी उत्पादन की संभावनों को देखते हुए सरकार इस क्षेत्र में विशेष कार्य कर रही है। सरकार का प्रयास है कि बडे उद्योग पहाडी क्षेत्रों में भी लगायें जाए ताकि यहां की जनता को रोजगार के संसाधन मिले। श्री दास ने कहा कि जनपद में खडिया आधारित उद्योग लगाने पर कार्य किया जा रहा हैं।

यह भी पढ़ें 👉  अग्निवीर भर्ती प्रक्रिया में बदलाव, पहले देना होगा कॉमन एंट्रेंस एग्जाम

इस दौरान जिलाधिकरी रीना जोशी ने कहा कि ग्रामीण क्षेत्रों में गुणवत्तापूर्ण उत्पादों का उत्पादन होता है, इससे आर्थिक सशक्तिकरण भी हो रहा हैं इसके लिए जनपद में महिलाओं को कई प्रशिक्षण दियें जा रहे है। उत्कृष्ट कार्य करने वाले समूह को अन्य क्षेत्रों में विशेष कार्य करने वाले उद्योगो का भ्रमण कराने के निर्देश संबंधित विभोग को दियें। इस दौरान उन्होंने उत्पादों की ग्रेडिंग एवं पैकेजिंग पर विशेष ध्यान देने को भी कहा। इससे पूर्व जिलाधिकारी ने भी स्टॉलों का निरीक्षण कर स्वंय सहायता समूह के कार्यो की सराहना की।

यह भी पढ़ें 👉  उत्तराखंड:( मौसम) मौसम विभाग द्वारा 9 फरवरी तक जारी मौसम पूर्वानुमा, जानिए कहां बरसात और बर्फबारी की संभावना देखिए अपडेट

मुख्य विकास अधिकारी संजय सिंह ने कहा कि एनआरएलएम के माध्यम से समूह व उनके सदस्य महिलाओं को पहचान मिलती है, साथ ही उनकी आर्थिक वृद्धि होती हैं। उन्होंने कहा हमारे स्थानीय उत्पादों को पहचान दिलाने में स्वंय सहायता समूह की अहम भूमिका है। उन्होंने कहा कि महिलाओं का विकास होगा, तो परिवार के साथ ही समाज का विकास होगा।

जिला विकास अधिकारी संगीता आर्या ने बताया कि जनपद में 07 कलस्टर लेवल फेडरेशन व 173 ग्राम संगठन कार्य कर रहें हैं, जिसमें लगभग 1869 स्वंय सहायता समूह कार्यरत हैं। उन्होंने कहा कि परम्मरागत उत्पादों को एक उचित मंच मिलें यह एक प्रयास है, ताकि स्थानीय उत्पादों को पहचान मिल सकें।  उन्होंने बताया कि 26 सिंतबर से वर्तमान तक स्वंय सहायता समूह द्वारा 01 लाख तक की बिक्री की जा चुकी है। इस दौरान कलस्टर लेवल फेडरेशन की महिलाओं ने अपने अनुभव भी साझा कियें। 

कार्यक्रम में जिलाध्यक्ष भाजपा शिव सिंह बिष्ट, उपजिलाधिकारी हरगिरि, खंड विकास अधिकारी आलोक भण्ड़ारी, नगर अध्यक्ष भाजपा रमेश तिवारी, जिला महामंत्री डॉ राजेन्द्र परिहार, रवि करायत, एनआरएलएम समन्वयक नीरज जोशी, सहित 07 कलस्टर लेवल फेडरेशन के स्वंय सहायता समूह के महिलायें मौजूद थी। 
Ad Ad Ad Ad Ad Ad Ad Ad Ad Ad Ad Ad Ad Ad
यह भी पढ़ें 👉  अल्मोड़ाः(big news) सोमेश्वर में यहां पुलिस को सुनाई नाबालिग छात्रा ने आपबीती, गिरफ्तार 63 साल का बुजुर्ग आरोपी
Ad Ad Ad Ad
Subscribe
Notify of
guest
0 Comments
Inline Feedbacks
View all comments