उत्तराखंडः यहां सड़क के किनारे टहल रहे युवक को बाघ ले गया उठा ,मिली 15 घंटे बाद इस हाल में लाश

ख़बर शेयर करें

रामनगर:उत्तराखंड में पहाड़ी क्षेत्र हो मैदानी तेदुएं का आतंक जारी है।वन्य जीव के इन हमलों में अब तक कई मानव को अपनी जान भी गवानी पड़ी है अब ताजा मामला रामनगर का है इससे पहले भी रामनगर में बाघ लोगों को अपना शिकार बना चुका है। अब कार्बेट टाइगर रिजर्व की सीमा से सटे नेशनल हाइवे धनगढ़ी के पास बाघ ने राह चलते एक युवक को अपना निवाला बना लिया। जिसके बाद क्षेत्र में खोफ का माहौल बना है। बताया जा रहा है कि बाघ युवक के शव को जंगल खींच ले गया। करीब 15 घंटे बाद उसका आधा खाया हुआ शव जंगल से बरामद हो गया। कपड़े व हुलिये से मृतक विक्षिप्त बताया जा रहा है।जानकारी के अनुसार सोमवार शाम करीब 6 बजे लोगों ने हाइवे पर रामनगर के अंतर्गत धनगढ़ी से एक किलोमीटर दूर कपड़े पड़े देखे। उस क्षेत्र में बाघों की सक्रियता होने से बाघ द्वारा हमला किए जाने का अंदेशा वन विभाग ने जताया। जिसके बाद कार्बेट के निदेशक धीरज पांडे व रामनगर वन प्रभाग के डीएफओ कुंदन कुमार के निर्देश पर दोनों विभागों की संयुक्त टीमों ने रात में ही हाइवे के नजदीक छानबीन की।ज्यादा अंधेरा होने के कारण तलाशी अभियान को रोक दिया गया। आज सुबह दोबारा तलाशी अभियान शुरू किया गया। सुबह करीब 9 बजे उसका शव रामनगर वन प्रभाग के अंतर्गत कोसी रेंज के जंगल में कोसी नदी के समीप से बरामद हो गया। उसका एक पैर बाघ ने खा लिया था। मृतक विक्षिप्त है। लोगों का कहना है कि सोमवार शाम को विक्षिप्त युवक मोहान वन चैकी पर घूम रहा था। उसे कुछ लोगों ने वापस लौटा दिया था। लेकिन जंगल के नजदीक चले जाने पर उसे बाघ ने अपना निवाला बना लिया। इससे पहले भी बाघ सड़क पर घूम रहे विक्षिप्तों को अपना शिकार बना चुका है।ज्यादा अंधेरा होने के कारण तलाशी अभियान को रोक दिया गया। आज सुबह दोबारा तलाशी अभियान शुरू किया गया। सुबह करीब 9 बजे उसका शव रामनगर वन प्रभाग के अंतर्गत कोसी रेंज के जंगल में कोसी नदी के समीप से बरामद हो गया। उसका एक पैर बाघ ने खा लिया था। मृतक विक्षिप्त है। लोगों का कहना है कि सोमवार शाम को विक्षिप्त युवक मोहान वन चैकी पर घूम रहा था। उसे कुछ लोगों ने वापस लौटा दिया था। लेकिन जंगल के नजदीक चले जाने पर उसे बाघ ने अपना निवाला बना लिया। इससे पहले भी बाघ सड़क पर घूम रहे विक्षिप्तों को अपना शिकार बना चुका है।

Ad Ad Ad Ad Ad Ad Ad Ad Ad Ad Ad Ad Ad Ad
यह भी पढ़ें 👉  बागेश्वर:(जनता दरबार) 21 शिकायतें दर्ज पेयजल, सड़क, शिक्षा, मुआवजा व आवास संबंधित शिकायतें प्रमुख
Ad Ad Ad Ad
Subscribe
Notify of
guest
0 Comments
Inline Feedbacks
View all comments